विश्व
खबरें ठंडे होने से पहले इन्हें पढ़िए, जानिए और इनका आनंद लीजिए। देश और विदेश की गरमा गरम तड़कती फड़कती खबरें Sputnik पर प्राप्त करें!

नॉर्ड स्ट्रीम विस्फोट के पीछे यूक्रेन ही है, रूस नहीं: सूत्र

© Photo
 - Sputnik भारत, 1920, 25.08.2023
सब्सक्राइब करेंTelegram
नॉर्ड स्ट्रीम गैस पाइपलाइनों में विस्फोटों की जांच से परिचित सूत्र मीडिया रिपोर्टों की पुष्टि करते हैं कि निशान यूक्रेन की ओर जाते हैं, रूस के अपराधी होने का कोई तथ्य नहीं है।
समाचार एजेंसियों ने कहा कि इस बात के तथ्य बढ़ रहे हैं कि नॉर्ड स्ट्रीम पाइपलाइनों पर आक्रमणों के पीछे यूक्रेन से जुड़े अपराधी हो सकते हैं। उन्होंने दावा किया कि वे बाल्टिक सागर में विस्फोटों से पहले और बाद में यूक्रेन में थे। तकनीकी आंकड़ों से यही संकेत मिला।
नॉर्ड स्ट्रीम पाइपलाइनों का निर्माण रूस से जर्मनी तक बाल्टिक सागर के नीचे गैस पहुंचाने के लिए किया गया था। वे सितंबर 2022 में विस्फोटों की चपेट में आ गए थे।
पाइपलाइन के संचालक, नॉर्ड स्ट्रीम AG ने कहा कि क्षति अभूतपूर्व थी। मरम्मत में लगने वाले समय का अनुमान लगाना असंभव है। डेनमार्क, जर्मनी और नॉर्वे ने आक्रमण की जांच से रूस को बाहर कर दिया है। इसलिए मास्को को अंतरराष्ट्रीय आतंकवाद के आरोपों पर अपनी जांच प्रारंभ करनी पड़ी।
जांच के कोई आधिकारिक परिणाम अभी तक घोषित नहीं किए गए हैं। पुलित्जर पुरस्कार विजेता अमेरिकी खोजी पत्रकार सेमुर हर्श ने फरवरी 2023 में एक रिपोर्ट प्रकाशित की थी जिसमें आरोप लगाया गया था कि विस्फोट अमेरिका द्वारा नॉर्वे के समर्थन से आयोजित किए गए थे। वाशिंगटन ने इस मामले में किसी भी तरह की संलिप्तता से इनकार किया है।
The Russian pipe-laying ship ‘Akademik Tscherski’ which is on deployment for the further construction of the Nord Stream 2 Baltic Sea pipeline is moored at the port of Mukran on the island of Ruegen, Germany, Tuesday, Sept. 8, 2020 - Sputnik भारत, 1920, 28.02.2023
विश्व
लवरोव नॉर्ड स्ट्रीम पर आतंकी हमले की बात करेंगे G20 विदेश मंत्रियों की बैठक में: रूसी विदेश मंत्रालय
न्यूज़ फ़ीड
0