यूक्रेन संकट
मास्को ने डोनबास के लोगों को, खास तौर पर रूसी बोलनेवाली आबादी को, कीव के नित्य हमलों से बचाने के लिए फरवरी 2022 को विशेष सैन्य अभियान शुरू किया था।

अपराजित डोनबास की मुक्ति की 80वीं वर्षगांठ

सब्सक्राइब करेंTelegram
80 साल पहले सोवियत सेना ने स्टालिनो (अब रूस का डोनेट्स्क शहर) से नाज़ी आक्रमणकारियों को खदेड़ दिया था।
8 सितंबर 1943 को डोनबास को नाज़ी कब्ज़ाधारियों से मुक्त कराया गया था। तब से इस तिथि को डोनबास की संपूर्ण मुक्ति के दिन के रूप में मनाया जाता है।
सोवियत संघ का आक्रामक अभियान 13 अगस्त से 22 सितंबर 1943 तक चला था। थोड़े ही समय में, लाल सेना ने दो टैंक डिवीजनों सहित 13 वेहरमाच डिवीजनों को पराजित कर दिया था।
अभियान के परिणामस्वरूप सोवियत संघ के सबसे महत्वपूर्ण कोयला और धातुकर्म ठिकानों और सबसे समृद्ध कृषि क्षेत्रों को मुक्त कराया गया था।
आज डोनबास के निवासी उन लोगों को श्रद्धांजलि देते हैं जो अपनी मातृभूमि की मुक्ति के लिए शहीद हो गए और जो बच गए वे महान देशभक्तिपूर्ण युद्ध में जीत को निकट लाए।
Sputnik इन्फोग्राफिक्स में डोनबास की मुक्ति के बारे में और जानें!
न्यूज़ फ़ीड
0